कोविड को लेकर मुख्यमंत्री योगी चिन्तित, पहुंचे सहारनपुर

कोविड को लेकर मुख्यमंत्री योगी चिन्तित, पहुंचे सहारनपुर

सहारनपुर।
कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संक्रमित मरीजों के आवास पर जाकर उनसे सीधे संवाद कर प्रदेश की जनता को नई दिशा दी है। मुख्यमंत्री कोरोना संक्रमण से बाहर आने के बाद प्रदेश के 11 मण्डलों के 47 जिलों का भ्रमण अब तक किया हैं। जिनमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के तीन मण्डलों के सहारनपुर सहित आठ जनपद भी शामिल है। मुख्यमंत्री के दौरा कोरोना संक्रमण से जुझ रहे मरीजों के लिए जहां नई ऊर्जा का संचार कर रहा है। वहीं यह संदेश देने में भी कामयाब रहा कि बिना टीम वर्क के इस महामारी पर नियंत्रण नहीं किया जा सकता है। विश्वव्यापी महामारी से लड़ने के लिए टीम वर्क की जरूरत है। आम आदमी से लेकर हर किसी की भूमिका महत्वपूर्ण है।
मुख्यमंत्री 14 अप्रैल को कोरोना संक्रमित होने के बाद भी निरंतर अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर प्रदेश की जनता के हितों में कार्य करते नजर आए। आईसोलेशन से 30 अप्रैल को बाहर आने के बाद प्रदेश की जनता का हाल जानने के लिए जनपदों का भ्रमण शुरू किया और जमीनी हकीकत से रू-ब-रू हुए। कोरोना से लड़ने के लिए टीम वर्क के साथ ही टैªस, टैस्ट एण्ड ट्रीट के मंत्र से प्रदेश में पिछले 18 दिनों में लगभग 01 लाख 63 हजार केस कम हुए। अब तक प्रदेश में 4.5 करोड से अधिक टैस्ट किये जा चुके है।

मुख्यमंत्री की पहल पर ही ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए गए है। ग्रामीण क्षेत्रों में जहां निगरानी समिति की टीम के द्वारा डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग का कार्य किया जा रहा है। लक्षणयुक्त और संदिग्ध मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध करायी जा रही है। ऐसे संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेशन, क्वारनटाइन सेन्टर अथवा हाॅस्पिटल में भेजने के लिए सूची तैयार की जा रहीं है। प्रशासन के द्वारा ऐसे व्यक्तियों की 24 घण्टे के अन्दर रैपिड रैस्पोंस टीम के द्वारा जांच करायी जा रही है। होम आइसोलेशन में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को टेली कंसलटेशन की सुविधा तथा आवश्यता पडने पर उसे हाॅस्पिटल भेजने की व्यवस्था भी प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा बड़े स्तर पर की जा रही है। मुख्यमंत्री की रणनीति का असर सहारनपुर मण्डल सहित प्रदेश के दूसरे जनपदों में दिखाई देने लगा है। प्रदेश में पाॅजिटिविटी की दर कम हुई है और रिकवरी बढी है।
योगी आदित्यना नाथ ने अपने सहारनपुर दौरे के दौरान ग्राम सोराणा, तहसील नकुड़,विकास खण्ड सरसावा में कोरोना संक्रमित पांच मरीजों का हाल जाना और सुमित पुत्र सतपाल और शुभम पुत्र ब्रजपाल के आवास पर पहुंच कर सीधे संवाद कर उनका हाल जाना। ग्राम में संचालित प्रशासनिक व्यवस्थाओं की भी जानकारी हासिल की और सभी को टीकाकरण कराये जाने का भी आह्वान किया। यह पहला अवसर पर था कि जब किसी मुख्यमंत्री ने संक्रमित मरीजों से उनके आवास पर जाकर सीधे संवाद किया। मुख्यमंत्री के इस कदम की सर्वत्र प्रशंसा हो रही है। मुख्यमंत्री के प्रयास यही नहीं रूके इसके बाद ग्राम पंचायत बलवंतपुर/सलेमपुर, तहसील सदर में आईसोलेशन केन्द्र पर पहुंच कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और फ्रंट लाईन वर्कस के हौंसला बढ़ाया तथा लक्षणयुक्त मरीजों को मेडिकल किट वितरित करने के निर्देश दिए। निगरानी समितियों के कार्य की जानकारी लेते हुए महामारी में बचाव ही सर्वोत्तम उपाय पर बल दिया।

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर मण्डल में 45 वर्ष से ऊपर के 05 लाख 49 हजार 132 लोगों को वैक्सीन दिये जाने के कार्य में और अधिक तेजी लाने के निर्देश दिए। जनपद सहारनपुर में 13 हजार 306 युवाओं को वैक्सीन उपलब्ध कराई जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए कोरोना से लड़ने के लिए निंरतर जागरूकता के विशेष अभियान चलाये जाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में जहां 300 आॅक्सीजन प्लांट लगाये जाने प्रस्तावित है, वहीं मण्डल के सहारनपुर जनपद में 11 और मुजफ्फरनगर जनपद में 6 सहित कुल 17 आॅक्सीजन प्लांट लगाये जायेंगे। कोरोना मरीजों के ईलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को 25 फीसदी मानदेय दिये जाने के भी निर्देश दिए है। जिला स्तर पर बनाये गये एकीकृत कोविड कमाण्ड केन्द्रों को और अधिक उपयोगी बनाये जाने के निर्देश दिए गए है। विश्वव्यापी महामारी की इस जंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा उठाए गए कदम प्रदेश की जनता में भरोसा और विश्वास पैदा कर रहे है।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999