जिम्बाब्वे में जारी हिंसा के बीच चुनाव आयोग ने संसदीय चुनाव के नतीजों का ऐलान कर दिया है. एक बार फिर मौजूदा राष्ट्रपति एमर्सन मैनगाग्वा ने चुनाव जीत लिया है. ZANU-PF पार्टी के नेता एमर्सन मैनगाग्वा ने 50.8 फीसदी वोटों के साथ जीत दर्ज की है. दूसरे नंबर पर एमडीसी पार्टी के नेल्सन चमीसा 44.3 प्रतिशत वोट ही जुटा सके. जिम्बाब्वे निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का ऐलान करते हुए एमर्सन को विजेता घोषित किया. हालांकि जीत का यह अंतर बहुत कम है. इधर चमीसा ने चुनाव परिणामों पर सवाल उठाते हुए इसे गलत बताया. इससे पहले दोनों ही नेता अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे थे. विपक्षी एमडीसी के वरिष्ठ नेता तेंदई बिटी ने दावा किया था कि पार्टी नेता नेल्स न चमीसा ने राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत लिया और आरोप लगाया कि अधिकारी चुनाव के नतीजों का ऐलान करने में देरी कर रहे हैं. जिमबाब्वे में सोमवार को चुनाव हुए थे. जिम्बाब्वे में 37 साल के शासन के बाद राबर्ट मुगाबे को राष्ट्रपति पद से हटाने के बाद पहली बार चुनाव हुए थे. दक्षिण अफ्रीकी देश में हुए ऐतिहासिक चुनाव में कभी जेडएएनयू-पीएफ पार्टी में मुगाबे के सहयोगी रहे राष्ट्रपति एमर्सन नन्गाग्वा और एमडीसी पार्टी के नेल्सन चमीसा के बीच सीधा मुकाबला था. 94 वर्षीय मुगाबे को पिछले साल नवंबर में सेना ने अपदस्थ किया था. मुगाबे ने चुनाव से एक दिन पहले मतदाताओं से जेडएएनयू-पीएफ को खारिज करने की अपील कर सभी को चौंका दिया था. गौरतलब है कि जिम्बाब्वे में संसदीय चुनावों के बाद हुई हिंसा में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है. जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में सुरक्षा बलों ने प्रदर्शन कर रहे विपक्षी दलों के समर्थकों पर गोलीबारी की, जिसमें इन लोगों की मौत हो गई. राष्ट्रपति एमर्सन मैनगाग्वा ने बुधवार की हिंसा के लिए विपक्षी गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया. बुधवार को जिम्बाब्वे की राजधानी में सेना के टैंकों ने प्रवेश कर लिया था.

जिम्बाब्वे: जिम्बाब्वे निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे का ऐलान, एमर्सन को विजेता घोषित किया।

रिपोर्ट: फराह अंसारी
जिम्बाब्वे: जिम्बाब्वे में जारी हिंसा के बीच चुनाव आयोग ने संसदीय चुनाव के नतीजों का ऐलान कर दिया है। एक बार फिर मौजूदा राष्ट्रपति एमर्सन मैनगाग्वा ने चुनाव जीत लिया है। ZANU-PF पार्टी के नेता एमर्सन मैनगाग्वा ने 50.8 फीसदी वोटों के साथ जीत दर्ज की है। दूसरे नंबर पर एमडीसी पार्टी के नेल्सन चमीसा 44.3 प्रतिशत वोट ही जुटा सके।




जम्मू कश्मीर: सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर, मारे आतंकियों में खुर्शीद अहमद मलिक भी शामिल।
जिम्बाब्वे निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों का ऐलान करते हुए एमर्सन को विजेता घोषित किया। हालांकि जीत का यह अंतर बहुत कम है। इधर चमीसा ने चुनाव परिणामों पर सवाल उठाते हुए इसे गलत बताया।

इससे पहले दोनों ही नेता अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे थे। विपक्षी एमडीसी के वरिष्ठ नेता तेंदई बिटी ने दावा किया था कि पार्टी नेता नेल्स न चमीसा ने राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत लिया और आरोप लगाया कि अधिकारी चुनाव के नतीजों का ऐलान करने में देरी कर रहे हैं। जिमबाब्वे में सोमवार को चुनाव हुए थे।

जिम्बाब्वे में 37 साल के शासन के बाद राबर्ट मुगाबे को राष्ट्रपति पद से हटाने के बाद पहली बार चुनाव हुए थे। दक्षिण अफ्रीकी देश में हुए ऐतिहासिक चुनाव में कभी जेडएएनयू-पीएफ पार्टी में मुगाबे के सहयोगी रहे राष्ट्रपति एमर्सन नन्गाग्वा और एमडीसी पार्टी के नेल्सन चमीसा के बीच सीधा मुकाबला था।



94 वर्षीय मुगाबे को पिछले साल नवंबर में सेना ने अपदस्थ किया था। मुगाबे ने चुनाव से एक दिन पहले मतदाताओं से जेडएएनयू-पीएफ को खारिज करने की अपील कर सभी को चौंका दिया था।

जिम्बाब्वे में संसदीय चुनावों के बाद हुई हिंसा में कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई है।जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में सुरक्षा बलों ने प्रदर्शन कर रहे विपक्षी दलों के समर्थकों पर गोलीबारी की, जिसमें इन लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रपति एमर्सन मैनगाग्वा ने बुधवार की हिंसा के लिए विपक्षी गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया। बुधवार को जिम्बाब्वे की राजधानी में सेना के टैंकों ने प्रवेश कर लिया था।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999