शादियों से लगे जाम ने बजा दिया पूरे शहर का ‘बैंड’, शराब के नशे में सडकों पर हुडदंग

शादियों से लगे जाम ने बजा दिया पूरे शहर का 'बैंड'

माजिद कुरैशी/मनीष अग्रवाल
सहारनपुर : जैसा की शादियों का सीजन चल रहा है ऐसे में पुलिस की हीलाहवाली और मंडप स्वामियों की बदइंतजामी व मनमानी का खामियाजा शहर की जनता को भुगतना पड़ा रहा है। शादियों के कारण चारों तरफ लगे जाम से पुरे जनपद के लिए अच्छी खासी आफत लेकर आया। सड़क पर पार्किंग, चढ़त और आतिशबाजी से शहर थम सा गया। खाश तौर पर दिल्ली रोड , अम्बाला रोड और पेपर मिल रोड मानों इन दिनों इन सडकों का तो जैसे जनाज़ा ही निकल गया हो, रही-सही कसर पुलिस ने पूरी कर दी है। रात में शहर की सड़कों पर तो दूर, मुख्य चौराहों पर भी पुलिस नदारद रहती है। जाम से निकलने की जद्दोजहद में कई जगह वाहन स्वामी आपस में भीड़ जाते है और एक दुसरे पर जाम की खुंदक निकालते हुए नज़र आते है।

हैरत की बात यह है कि शादियों के सीजन में हर बार जाम की समस्या आती है, लेकिन पुलिस की बेफिक्री का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शादियों के सीजन के दौरान भी वह आम दिनों की तरह सड़कों से गायब रहती है। पिछले 15 दिनों से तो जाम ने शहर को नरक बना डाला है। रात नौ बजे के बाद से ही दिल्ली रोड से लेकर कोर्ट रोड तक के बीच लगभग दर्जन भर मंडपों पर घुड़चढ़ी, डीजे बजने और वाहनों की अव्यवस्थित पार्किंग की वजह से भारी जाम लगने की समस्याएं सामने आई है।



जनता हलकान, थानों की पुलिस अनजान

दिल्ली रोड और अम्बाला रोड पर शादियों के सीजन में हाल-बेहाल हो जाता है। दूसरा लोग जल्दी निकलने के चक्कर में एक ही मार्ग पर आने-जाने लगते है जिससे डबल जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसी बीच यदि कोई वाहन खराब हो जाए तो आगे निकलने के चक्कर में कई लोग एक-दूसरे से भिड़ भी जाते है। इससे जाम और गहरा जाता है। इस जाम को खुलवाने के लिए केवल ट्रेफिक पुलिस तो दिखाई देती है लेकिन स्थानीय या सम्बन्धित पुलिस चौकी या थानों के पुलिसकर्मी दूर दूर तक कहि दिखाई नही देते है



डिवाइडर पर आतिशबाजी से वाहन चालक खौफजदा

सहारनपुर की बढ़ती आबादी और सिकुड़ती सड़कें पहले ही जाम की वजह बनी हुई हैं। वहीं अतिक्रमण ने इस समस्या को और विस्तार दे दिया है। दूसरा शहरभर में होने वाली शादियों में चढ़त के दौरान आतिशबाजी ने मानो राहगीरों का सुख-चैन छीन ही लिया है। सड़कों को बांटने वाला डिवाइडर आतिशबाजी स्पॉट बन गया है। डिवाइडर पर आतिशबाजी के दौरान स्काई शॉट, रॉकेट व सुर्री बम आदि से गिरने वाली चिंगारियां कई बार वाहन चालकों व राहगीरों को घायल कर देती हैं। ऐसे में वाहन में सवार लोग हादसे को लेकर आशंकित रहते हैं। ऊपर से शराब पीकर बाराती हुडदंग करते हुए देखे जा सकते है लेकीन बैंकट हाल स्वामियों द्वारा कोई भी दिशा निर्देश नही दिए जाते और ना ही हुडदंग करने वाली बरातों के बरातियों पर कोई नकेल कसी जाती है!



आपको बता दें की सहारनपुर के 98 % बैंकट हाल सड़कों के किनारे बने हुए जिनमें शादियों के प्रोग्रामों के वक़्त सडक पर ही पार्किंग करा दी जाती है जिससे पूरी तरह सड़कों पर जाम की स्थिति बन जाती है कई बार तो एम्बुलेंस आदि को निकलने में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन इस किसी भी अधिकारी का ध्यान नही है!.

Facebook Comments