आज से यूनियन हड़ताल, कई मांगों को लेकर 95 लाख ट्रकों का चक्का जाम

आज से यूनियन हड़ताल, कई मांगों को लेकर 95 लाख ट्रकों का चक्का जाम

फराह अंसारी
नई दिल्ली: डीजल की कीमतों में हो रही लगातार बढ़ोतरी और टोल टैक्स कम करने समेत अपनी अन्य मांगों को लेकर ट्रक ऑपरेटरों और ट्रांसपोर्टरों ने शु्क्रवार से अनिश्च‍ितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। ट्रक और बस ऑपरेटर्स संगठन से जुड़े तकरीबन 90 लाख ट्रक और 50 लाख बस हड़ताल पर चले गए हैं।

ट्रकों की हड़ताल के चलते खाने और पीने की चीजों की कीमतें बढ़ने का खतरा पैदा हो गया है। ट्रकों की रफ्तार पर ब्रेक लगने से रोजमर्रा के जरूरत की चीजों की कमी हो सकती है।



ट्रक ऑपरेटर और ट्रांसपोर्टर लगातार डीजल की बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण के लिए सरकार से अपील कर रहे हैं। उनकी मांग है कि डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए, ताकि उन्हें इसकी बढ़ती कीमतों से राहत मिल सके। इसके अलावा उनका तर्क है कि डीजल के दाम रोज बदलने से उन्हें किराया तय करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

डीजल को जीएसटी के तहत लाने के अलावा ऑपरेटर्स की मांग है कि टोल सिस्टम में भी बदलाव लाया जाए। इनका दावा है कि टोल प्लाजा पर न सिर्फ उन्हें समय का नुकसान झेलना पड़ता है, बल्क‍ि इससे उनका काफी मात्रा में ईंधन भी बरबाद होता है। इससे उन्हें सालाना लाखों की चपत लगती है।


Facebook Comments