मशहूर गीतकार और पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित कवि गोपालदास सक्सेना का निधन।

मशहूर गीतकार और पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित कवि गोपालदास सक्सेना का निधन।

फराह अंसारी
लखनऊ: मशहूर गीतकार और पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित कवि गोपालदास सक्सेना ‘नीरज’ का गुरुवार को एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। नीरज 93 वर्ष के थे। कवि नीरज के निकटस्थ सूत्रों ने बताया कि संक्रमण के कारण उनके फेफड़ों में मवाद भर गया था।




हॉस्पिटल के डॉक्टरों से परामर्श लेने के बाद डॉक्टरों ने नली डालकर 800 ग्राम मवाद बाहर निकाल दिया था। लेकिन इसके बाद भी उनके स्वास्थ्य में सुधारने और बिगड़ने का क्रम बना रहा। वह बुधवार सुबह अपने बेड पर बैठ गए थे। कुछ कहने के बजाय कागज पर लिखकर बताया था-मैं ठीक हूं, अब घर चलो।’

कवि नीरज के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त किया है। योगी जी ने कहा प्रख्यात कवि श्री गोपाल दास ‘नीरज’ जी के निधन पर गहरा दुःख हुआ। नीरज जी ने अपनी काव्य रचनाओं से हिन्दी साहित्य को समृद्ध किया। उन्हें भावनाओं और अनुभूतियों को व्यक्त करने में दक्षता हासिल थी। हिन्दी फिल्मों के लिए नीरज जी द्वारा लिखे गए गीत आज भी लोकप्रिय हैं।

श्री गोपाल दास ‘नीरज’ जी के निधन से साहित्य जगत को जो हानि हुई है, उसकी भरपाई होना कठिन है।, ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति एवं परिजनों को संबल देने की प्रार्थना करता हूँ।


Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999