सहारनपुर में सख्ताई से घर घर होगी कोरोना की जांच,आदेश हुए जारी ।

डोर-टू-डोर सघन सर्वे कराया जाए-मण्डलायुक्त
सर्वे में कोई घर न छूटने पाएं – संजय कुमार
रैपिड रेस्पाॅन्स टीम/सर्विलांस टीम होम आईसोलेशन में रहने वाले
व्यक्तियों के साथ समन्वय स्थापित करें

माजिद कुरैशी (सहारनपुर)।
सहारनपुर मण्डल, सहारनपुर आयुक्त संजय कुमार ने कोरोना वायरस संक्रमण के नियंत्रण के लिए डोर-टू-डोर सर्वे पर बल देते हुए नगर निगम, सहारनपुर क्षेत्र में लगी हुयी 326 टीमों तथा नगर पालिका परिषद देवबन्द में लगी 107 टीमों द्वारा घर-घर जाकर सघन सत्यापन हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित कराने की अपेक्षा की गई कि सघन सत्यापन के दौरान कोई भी घर सत्यापन से छूटने न पाये।



मण्डल आयुक्त की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के नियन्त्रण के लिए आज यहां जिलाधिकारी कार्यालय सहारनपुर स्थित एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सत्यापन के दौरान सर्विलांस टीम द्वारा एस0ए0आर0आई0/आई0एल0आई0 के मरीजों पर विशेष ध्यान केन्द्रित करते हुए उनके स्वास्थ्य परीक्षण तथा कोरोना टेस्ट शत-प्रतिशत कराने के निर्देश दिए। जनपद सहारनपुर में अब तक 2736 सारी/ आई0एल0आई0 के केस चिन्हित किये जा चुके हैं जिनका कोविड टेस्ट कराया जा चुका है। बैठक में उपस्थित मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि वर्तमान में ऐसे मरीजों पर सर्विलांस टीम द्वारा विशेष ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है तथा सर्विलांस के दौरान ऐसे मरीजों की साप्ताहिक जांच/फीडबैक लेते रहें।



संजय कुमार ने मुख्य चिकित्साधिकारी डा.बी.एम.सोढी को निर्देशित किया कि यदि कोई भी व्यक्ति कोविड संक्रमित पाया जाता है तो उसे तत्काल एल0-1/एल-2 कोविड हाॅस्पिटल में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जाये। उनके निकट संबंधियों का 24 घण्टे के भीतर कोरोना सैम्पल लिया जाय। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय। यदि किसी भी निकट संबंधी द्वारा सैम्पलिंग का प्रतिरोध किया जाता है तो उनके विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही की जाये। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि अब तक कुल 917 व्यक्तियों को होम आईसोलेशन की सुविधा दी गई है तथा वर्तमान में 350 व्यक्ति ही होम आईसोलेशन में है। शेष व्यक्तियों को निर्धारित प्रोटोकाॅल पूर्ण करने के बाद उनका होम आईसोलेशन समाप्त किया जा चुका है।



आयुक्त सहारनपुर द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि रैपिड रेस्पाॅन्स टीम/सर्विलांस टीम होम आईसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों के साथ लगातार समन्वय बनाकर रखे। उन्होंने कहा कि होम आईसोलेशन के प्रोटोकाॅल के बारे में उन्हें नियमित रूप से सूचित व सचेत करते रहे।
जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, ने अवगत कराया कि होम आईसोलेशन में रखे गये व्यक्तियों से एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर से नियमित रूप से फीड बैक लिया जा रहा है आज होम आईसोलेशन में रखे गये 350 व्यक्तियों से फीडबैक लिया गया। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि अभी अपर मुख्य चिकत्साधिकारियों को पृथक-पृथक कार्य सौंप दिये गये एवं कोविड नियन्त्रण में प्रत्येक अधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहा है।

इसके अतिरिक्त बाहर से आने वाले ऐसे समस्त व्यक्तियों के लक्षणात्मक परीक्षण किये जाने तथा इस कार्य हेतु वार्ड, ग्राम, मोहल्ला निगरानी समितियों व पार्षद व प्रधानगण का सहयोग प्राप्त किये जाने के निर्देश निर्गत किये गये जिससे कोई भी लक्षणयुक्त हो तो उसका निर्धारित प्रोटोकाॅल के अनुसार उपचार किया जा सके।

मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि ऐसे समस्त व्यक्ति जो होम आईसोलेशन में रह रहे हैं अथवा एल-1 या एल-2 हाॅस्पिटल में भर्ती किये गये है, उनके नाम, पते, मोबाईल नंबर संरक्षित किये जा रहे हैं एवं एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर से उनका फीडबैक प्राप्त किया जा रहा है। जहां पर विशिष्ट चिकित्सकों की कमी है वहां पर आई0एम0ए0 व अन्य निजी चिकित्सकों से भी समन्वय कर उनकी सेवा प्राप्त की जा रही है। कोविड मरीजों को एम्बूलेंस की सुविधा तत्काल उपलब्ध करायी जा रही है मण्डलायुक्त द्वारा निर्देश निर्गत किये गये कि मांग के अनुसार कोविड मरीजों के लिए एम्बूलेंस चिन्हित कर ली जाय जिससे कि आवश्यकता पड़ने पर तत्काल उपलब्धता सुनिश्चित हो सकें।



मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में अब तक 69064 सैम्पल लिये जा चुके है जिनमें आर0टी0पी0सी0आर के माध्यम से 32971, एन्टीजन के माध्यम से 34713 व ट्रूनेट मशीन के माध्यम से 1380 सैम्पल लिये गये, अब तक 2540 कोरोना पाॅजिटीव पाये गये जिनमें से 1737 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अब 737 एक्टिव मरीज उपचाराधीन है जिनमें से 350 होम आईसोलेशन में है। निर्देशित किया गया कि प्रत्येक मृत्यु की मामलों की गहन समीक्षा की जाय एवं समीक्षा के उपरानत यह जानकारी प्राप्त की जाय कि किसी स्तर पर कोई लापरवाही तो नहीं बरती जा रही है।

बैठक में बैठक में नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी (प्रशसान) एस.बी.सिंह, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) विनोद कुमार, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) प्रदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक यातायात प्रेमचंद नगर मजिस्ट्रेट सुरेश कुमार सोनी, मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. डी.एस.मरतोलिया, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 बी0एस0सोढी, जिला सर्विलांस अधिकारी, मुख्य कोषाधिकारी सतेन्द्र सागर, उपजिलाधिकारी, सदर अनिल कुमार सिंह, जिला पंचायतराज अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999