नई दिल्ली: योगगुरु बाबा रामदेव बेरोजगारी भारत माता के माथे पर कलंक, केंद्र सरकार इसे दूर करने में असमर्थ।

नई दिल्ली: योगगुरु बाबा रामदेव बेरोजगारी भारत माता के माथे पर कलंक, केंद्र सरकार इसे दूर करने में असमर्थ।

फराह अंसारी
नई दिल्ली: अब तक मोदी सरकार की नीतियों पर समर्थन जताते रहे योगगुरु बाबा रामदेव ने बेरोजगारी के मसले पर कठघरे में खड़ा किया है। उन्होंने बेरोजगारी को भारत माता के माथे का कलंक बताते हुए कहा कि केंद्र और राज्य की सरकारें इसे दूर करने में विफल रही है। रामदेव ने भोपाल में कहा, ”पूरे देश में बेरोजगारी एक बड़ा प्रश्न है। केंद्र और राज्य दोनों ही सरकारें उस दिशा में जितना काम करना चाहिए वो नहीं कर पा रही है। पतंजलि ने पिछले एक महीने में केवल सेल्स विभाग में 11,000 लोगों को नौकरियां दी है। आने वाले कुछ महीनों में उतने ही लोगों को और रोजगार दिया जाएगा। बेरोजगारी, गरीबी, भूखमरी ये भारत माता के माथे पर कलंक है। इनको मिटाना हमारा मकसद है।”



रामदेव पेट्रोल-डीजल की बढ़ती किमतों पर भी सवाल उठा चुके हैं। उन्होंने कहा था कि अगर सरकार चाहे तो आज भी 35 से 40 रुपये पेट्रोल-डीजल मिल सकता है। लेकिन सरकारी खजाना न खाली हो जाए इसका डर रहता है।



विपक्षी दल देशभर में बढ़ी बेरोजगारी को लेकर लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रही है। विपक्ष का दावा है कि मोदी सरकार बनने के बाद रोजगार घटे। इसकी बड़ी वजह नोटबंदी भी है। वहीं सरकार का दावा है कि नौकरियों में कोई कमी नहीं आई है।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999