New Delhi: Uber driver, woman is not alone, so wait till 1.5 hours.

नई दिल्ली: उबर ड्राइवर, महिला अकेली न रहे इसलिए 1.5 घंटे तक किया इंतजार।

रिपोर्ट फराह अंसारी
नई दिल्ली: उबर कैब सर्विस हमेशा से ही विवादों में रहा है जहां महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हमेशा से ही कैब की सर्विस पर सवाल खड़े किए गए हैं। कई बार महिलाओं ने भी कैब के ड्राइवर पर छेड़छाड़ के आरोप लगाएं हैं। लेकिन आज की कहानी कुछ अलग है जिसे सुनकर आपको उबर के इस ड्राइवर के लिए और इज्जत बढ़ जाएगी। दरअसर एक उबर ड्राइवर एक महिला यात्री और साथ में उनकी मां के साथ बीच रात तकरीबन डेढ़ घंटे उनके साथ रहा।




संतोष प्रियषमिता गुहा और उनकी मां रात को कैब से घर जा रहे थे लेकिन जब वो पहुंचे तो देखा कि सोसायटी का गेट बंद है। तब रात के करीब एक बज रहे थे। ऐसा देख राइड खत्म होने के बाद भी ड्राइवर संतोष ने उन्हें अकेले नहीं छोड़ा और तबतक उनके साथ रहा जबतक सोसायटी का गेट नहीं खुल गया। इसके लिए संतोष ने करीब डेढ़ घंटे तक इंतजार किया।



बता दें कि बेटी प्रियष्मिता ने ट्वीट कर संतोष की तारीफ की, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। तो वहीं कई लोग भी संतोष की तारीफ कर रहें हैं। उबर ने भी ड्राइवर संतोष पर गर्व जताते हुए एक ट्वीट किया है। उबर इंडिया ने संतोष को बुलाकर उन्हें धन्यवाद दिया और सम्मानित किया।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999