नई दिल्ली: तीन तलाक बिल बीजीपी-कांग्रेस में आर-पार।

सरकार में चल रहा बैठकों का दौर सरकार किसी भी सूरत में इस सत्र में इस बिल को पास कराने के मूड में हैं. जानकारी के मुताबिक कल शाम सरकार के बड़े नेताओं की बैठक हुई. इसके बाद आज सुबह भी तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार में बड़ा मंथन हुआ. संसद भवन में अमित शाह, अनंत कुमार, मुख्तार अब्बास नकवी, भूपेंद्र यादव और रविशंकर प्रसाद बैठक में शामिल हुए. सराकर को भरोसा, राज्यसभा से पास हो जाएगा लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव में जीत और राज्यसभा में उपसभापति चुनाव में जीत के बाद सरकार के हौसले बुलंद हैं. सरकार को भरोसा है कि वो इस बिल को आज राज्यसभा से पास करा लेगी. दरअसल राज्यसभा में बहुमत ना होने के बाद भी सरकार ने कल एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को उपसभापति का चुनाव जितवा दिया. इसलिए सरकार को उम्मीद है कि तीन तलाक के मुद्दे पर अगर उसे विपक्ष का साथ नहीं मिलता है तब भी वो इसे पास करवा लेगी.

रिपोर्ट फराह अंसारी
नई दिल्ली: 14वीं लोकसभा के आखिरी मानसून सत्र का आज आखिरी दिन है। संसद में तीन तलाक बिल पर पर हंगामा हो सकता है। इस बिल को आज राज्यसभा में चर्चा के लिए लाया जाएगा। बिल के प्रावधानों का विरोध कर रहे विपक्ष दल इसपर जमकर हंगामा करेंगे।इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर है कि संसद सत्र एक दिन के लिए बढ़ाया गया है।



दरअसल सरकार को विश्वास है कि वो आज राज्यसभा में संशोधन के साथ तीन तलाक बिल पास करवा लेगी। प्रक्रिया के मुताबिक बिल राज्यसभा से पास होने के बाद संशोधनों की मंजूरी के लिए दोबारा लोकसभा भेजा जाएगा। लोकसभा से बिल पास होने के बाद सीधे राष्ट्रपति के पास जाएगा, जहां राष्ट्रपति की मुहर लगने के बाद यह कानून की शक्ल ले लेगा।

सरकार किसी भी सूरत में इस सत्र में इस बिल को पास कराने के मूड में हैं। जानकारी के मुताबिक कल शाम सरकार के बड़े नेताओं की बैठक हुई। इसके बाद आज सुबह भी तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार में बड़ा मंथन हुआ। संसद भवन में अमित शाह, अनंत कुमार, मुख्तार अब्बास नकवी, भूपेंद्र यादव और रविशंकर प्रसाद बैठक में शामिल हुए।


लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव में जीत और राज्यसभा में उपसभापति चुनाव में जीत के बाद सरकार के हौसले बुलंद हैं। सरकार को भरोसा है कि वो इस बिल को आज राज्यसभा से पास करा लेगी। दरअसल राज्यसभा में बहुमत ना होने के बाद भी सरकार ने कल एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को उपसभापति का चुनाव जितवा दिया। इसलिए सरकार को उम्मीद है कि तीन तलाक के मुद्दे पर अगर उसे विपक्ष का साथ नहीं मिलता है तब भी वो इसे पास करवा लेगी।

Facebook Comments