New Delhi: Namita, the adoptive daughter of Atal Bihari Vajpayee, wrote a letter to the PMO, saying - Government facilities should be removed.

नई दिल्ली: अटल बिहारी वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता ने PMO को लिखी चिट्ठी, कहा- सरकारी सुविधाएं हटाई जाएं।

रिपोर्ट फराह अंसारी
नई दिल्लीः
देश के पूर्व प्रधानमंत्री और दिवंगत बीजेपी नेता अटल बिहारी वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता भट्टाचार्य ने प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिख कर मांग की है कि सरकार की ओर से मिली सुविधाएं वापस ली जाए। अपने खत में नमिता ने कहा है कि उनका परिवार अपना खर्च उठाने में सक्षम है इसलिए उन्हें मिली सरकारी सुविधा वापस ले ली जाए। उन्होंने कहा कि सुविधाएं लेकर मैं सरकारी खजाने पर भार नहीं डालना चाहती। पत्र के जरिए उन्होंने पीएमओ को बताया है कि वह कृष्णा मेनन मार्ग को खाली करके निजी घर में शिफ्ट होना चाहती हैं, उन्हें मिली एसपीजी सुरक्षा भी वापस ले लिया जाए।




सरकार पूर्व प्रधानमंत्रियों के परिवार को कई तरह की सुविधाएं देती है। जिसमें सुरक्षा भी शामिल है। इसके अलावा मुफ्त चिकित्सा, सरकारी स्टाफ, घरेलू विमान टिकटें और ट्रेन की मुफ्त यात्रा शामिल होता है। वाजपेयी के परिवार में दत्तक पुत्री नमिता, दामाद रंजन भट्टाचार्य और नाती निहारिका समेत कुछ अन्य सदस्य शामिल हैं।




बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्रियों के परिवार के लोगों को आजीवन सुरक्षा का प्रावधान तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने ही किया था। वाजपेयी के इस निर्णय को अमल में लाने के लिए एसपीजी एक्ट में संशोधन भी किए गए थे।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999