New Delhi: All India Organization of Chemists and Drugsticks' Strike Against Walmart-Flipkart Deal

नई दिल्ली: वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के खिलाफ ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट की हड़ताल।

रिपोर्ट फराह अंसारी
नई दिल्ली: वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील और विदेशी निवेश के खिलाफ देश भर के कारोबारियों ने आज भारत बंद का एलान किया है। आपके लिए सबसे बड़ी चिंता की बात ये है कि आज दवा की दुकानें भी बंद रहेंगी। ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट ने रात 12 बजे से 24 घंटे की हड़ताल का एलान किया है। एक तरफ व्यापारियों के बड़े संगठन कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने सभी छोटे बड़े बाजार को बंद रखने का एलान किया है तो दूसरी ओर दवा दुकानें बंद रहेंगी।




कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने एक बयान में कहा है, “देश के सभी व्यावसायिक बाजार बंद रहेंगे और कोई व्यावसायिक गतिविधि नहीं होगी। इस बंद में देश भर के सात करोड़ से अधिक छोटे कारोबारियों के हिस्सा लेने की संभावना है।”

व्यापारियों के संगठन ने दावा किया कि दिल्ली के कारोबारियों द्वारा ‘व्यापार बंद’ का आयोजन किया जाएगा. इसके तहत सभी थोक और खुदरा बाजार बंद रहेंगे। कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे और खुदरा क्षेत्र में एफडीआई के खिलाफ जंतर-मंतर पर कल धरना दिया जाएगा।

ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष जेएस शिंदे ने कहा, ”ऑनलाइन दवाओं की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए। इ-फार्मेसी सरकार द्वारा बैन की हुई दवाई भी बेच रही है। हाल ही में सरकार ने 328 तरह की दवाइयों को प्रतिबंधित किया लेकिन ऐसी दवाएं ऑनलाइन आपको मिल जाएंगी।”



एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी राजीव सिंघल ने बताया हड़ताल 24 घण्टे की है। देश भर में हमारी एसोसिएशन से करीब साढ़े आठ लाख दुकानें हैं। सभी दुकानें इसमें हिस्सा लेंगी।सिंघल ने बताया कि मरीज़ों को परेशानी ना हो इसके लिए आपात स्थिति में हॉस्पिटल के अंदर दवाई की दुकानें खुली रहेंगी। इसके अलावा हर तहसील और जिला स्तर पर हमारे प्रतिनिधियों ने इमरजेंसी काउंटर की लिस्ट प्रशासन को सौंपी हुई है जिससे मरीज़ों को दिक़्क़त ना हो।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999