सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख

सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख

सहारनपुर लोकसभा सांसद हाजी फजलुर्रहमान एंव भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने पूर्व केंद्रीय मंत्री क़ाज़ी रशीद मसूद के इंतकाल पर उनके घर पहुंचकर परिवार के लोगों से मुलाक़ात की। इस दौरान पूर्व विधायक इमरान मसूद, शायान मसूद, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, रागिब अंजुम, ज़मीर अहमद, गौरव रोड़, बसपा ज़िला सचिव रिहान खान, मुन्नू खान, अली पधान, राव जहांगीर, डॉक्टर माजिद, अनवर कुरैशी, शहंशाह कुरैशी, सय्यद हस्सान आदि उपस्थित रहे।

नही रहे दिग्गज नेता सांसद काजी रशीद मसूद, दिलचस्प रहा पूरा सफर



सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख
सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख




आपको बता दें की गत महज दो दिन पहले कई बार के सांसद व् केन्द्रीय मंत्री रहे आली जनाब काजी रशीद मसूद का निधन हो गया था। वह दिल्ली के अपोलो अस्पताल में कोरोना के लिए भर्ती हुए थे उसके बाद कोरोना से ठीक होकर वह तीन दिन पहले ही सहारनपुर लाये गये थे। जहां अचानक से तबीयत खराब होने पर उन्हें रूडकी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, उन्हें बचाया नहीं जा सका। काजी रशीद मसूद आखिर जिंदगी की जंग हार गए।


सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख
सांसद फजलुर्रहमान एंव राकेश टिकैत पहुंचे क़ाज़ी रशीद मसूद के घर,इमरान से मिल जताया दुःख

काजी रशीद मसूद 9 बार सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रह चुके थे। वह 1980, 1989, 1991 और 2004 में सहारनपुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गए, जबकि 1985, 2009 और 2012 में वह राज्यसभा के सदस्य रहे। रशीद मसूद जनता की समस्याओं को लेकर बड़े-बड़े नेताओं से मुलाकात करते रहते थे।



उन्हें जमीन का नेता कहा जाता था उन्होंने जिलें भर में अनेको नेताओ को जन्म दिया जिनमें संजय गर्ग, जगदीश राणा,इमरान मसूद सरीखे नेता शामिल रहे है। क़ाज़ी रशीद मसूद मुलायम सिंह के सहभागी भी रहे है मुलायम के साथ उनके परिवारिक सम्बन्ध जैसे थे।

गौरतलब है कि काजी रशीद मसूद 1977 में पहली बार जनता पार्टी के टिकट पर सांसद चुने गए थे। उस समय उन्होंने सहारनपुर लोकसभा सीट से ही चुनाव लड़ा था।


Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999