मेरठ: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ मिट्टी के चूल्हे पर बनी रोटी और दाल खाएंगे।

मेरठ: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ मिट्टी के चूल्हे पर बनी रोटी और दाल खाएंगे।

रिपोर्ट फराह अंसारी
मेरठ: 11 अगस्त शनिवार से मेरठ में शुरू हो रही बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक के दौरान उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शहर में ही रहेगें। योगी के रहने के फुलप्रूफ इंतजामों के साथ ही उनके खानपान की व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन चौकस है। योगी समेत बीजेपी के कई दिग्गजों का आज से मेरठ में आगमन शुरू हो जाएगा। जिले का बीजेपी संगठन कार्यक्रम में मेजबान की भूमिका में होगा और व्यवस्थाएं मुहैया करान के लिए प्रशासन की मुस्तैदी रहेगी।



योगी आदित्यनाथ की सादगी पसंद जिंदगी के बारे में तो सभी वाकिफ है। मेरठ में योगी के प्रवास के दौरान उनके लिए खानपान के देशी इंतजाम किए गए हैं। योगी आदित्यनाथ भोजन की थाली में मिट्टी के चूल्हे में बनी रोटी और देशी मूंग की धुली दाल बेहद पसंद करते हैं। जिला प्रशासन ने इसके लिए उनके प्रवास आरएएफ कैंप में मिट्टी का चूल्हा और एक अच्छे रसोइए का इंतजाम किया है। चर्चा यह भी है कि योगी के निवास स्थान पर कमरे के रंग से लेकर कपड़े, बिस्तर सब कुछ भगवा रंग का होगा। मुख्यमंत्री की जिंदगी में गाय को भोजन की पहली रोटी और हरा चारा अर्पित करना दिन की शुरूआत में शामिल है। उनके प्रवास के दौरान एक गाय भी उनके निवास के पास रहेगी।



सुरक्षा एजंसियों के इनपुट के मुताबिक आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के कमान्डर मसूद अजहर ने एक टेप जारी करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमले की धमकी दी है। सीएम योगी के मेरठ आगमन से पहले सुरक्षा एजंसियों चौकस हो गई हैं। दो दिन के लिए सीएम योगी का निवास नेशनल हाइवे से सटे वेदव्यासपुरी में रैपिड एक्शन फोर्स के कैंप में रहेगा। एनएसजी और सीआरपीएफ के कमांडो योगी के सुरक्षा घेरे में रहेंगे। कैंप में जहां मुख्यमंत्री का आवास होगा वहां किसी को जाने की अनुमति नहीं है और न ही वहां मुख्यमंत्री किसी से मुलाकात करेंगे। कार्यक्रम स्थल पर भी चप्पे-चप्पे पर कड़ा पहरा रहेगा। एंट्री केवल उन्हीं को मिलेगी जो पहले से लिस्ट में शामिल है और उन्हें एंट्री पास जारी किया गया है। सुरक्षा ऐजेन्सियों के इनपुट के मुताबिक लंदन बेस्ड आतंकी या फिर कश्मीरी बेस्ड आतंकी मुख्यमंत्री पर अटैक कर सकते हैं।

Facebook Comments