लाहौर: नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज की जनाजे की नमाज भारी भीड़ इक्ट्ठा हुई।

Lahore: Nawaz Sharif's wife Kulusam Nawaz, a great crowd of Muslims, gathered in his prayer.

रिपोर्ट फराह अंसारी
लाहौर: लंदन की एक मस्जिद में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज की जनाजे की नमाज में सैंकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया और उनका शव दफनाने के वास्ते पाकिस्तान ले जाने के लिए कानूनी औपचारिकताएं पूरी की गयीं। लंदन की रीजेंट पार्क मस्जिद में कुलसुम की जनाजे की नमाज में उनके बेटों-हसन और हुसैन, देवर शहबाज शरीफ, पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी निसार और इशाक डार समेत कई लोग पहुंचे थे। लाहौर में शुक्रवार को अलग से एक और जनाने की नमाज होगी।



कैंसर से लंबे समय तक जूझने के बाद लंदन के एक अस्पताल में मंगलवार को कुलसुम की मृत्यु हो गयी थी। वो 68 साल की थीं। उन्हें शुक्रवार को लाहौर में शरीफ परिवार की जती उमरा निवास में दफनाया जाएगा। ससुर मियां शरीफ और देवर अब्बास शरीफ की कब्रों के पास उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

बृहस्पतिवार की रात को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस की एक उड़ान हीथ्रो हवाई अड्डे से कुलसुम का पार्थिव शरीर लेकर लाहौर पहुंचेगी। शहबाज शरीफ, कुलसुम नवाज की बेटी अस्मा, पोते और परिवार के अन्य सदस्य पार्थिव शरीर लेकर पाकिस्तान जायेंगे।

शरीफ के बेटे हसन और हुसैन अपनी मां के अंतिम संस्कार के लिए पाकिस्तान नहीं जाएंगे। दोनों को भ्रष्टाचार के मामलों में एक जवाबदेही अदालत ने भगोड़ा घोषित कर रखा है। इस बीच कानूनी औपचारिकताएं पूरी की गईं और परिवार को हार्ली स्ट्रीट क्लीनिक से मृत्यु प्रमाणपत्र मिल गया। कुलसुम मंगलवार को यहीं चल बसीं थीं।




शरीफ परिवार को मृत्यु से जुड़ा कामकाज देखने वाले अधिकारी से पार्थिव शरीफ को इंगलैंड से बाहर ले जाने का पत्र भी मिल गया। शरीफ, उनकी बेटी मरियम, उनके दामाद एम सफदर को कुलसुम के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पैरोल पर रावलपिंडी की अडियाला जेल से रिहा किया गया था। उन्हें भ्रष्टाचार के मामलों में एक जवाबदेही अदालत ने जुलाई में उम्रकैद की सजा सुनायी थी।

Facebook Comments