कानपुर: आईपीएस सुरेन्द्र दास की पत्नी को पूछताछ के लिए बुलाया गया, किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे पायीं और रोने लगीं।

रिपोर्ट फराह अंसारी
कानपुर: आईपीएस सुरेन्द्र दास की पत्नी डॉ. रवीना से एसपी वेस्ट संजीव सुमन ने 60 मिनट तक पूछताछ की, लेकिन रवीना ने एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया। वो पूरे समय सिर्फ रोती रहीं। सुरेन्द्र दास सुसाइड मामले की जांच उनके ही क्लासमेट रहे एसपी संजीव सुमन कर रहे हैं। जब उन्होंने देखा कि रवीना किसी भी सवाल का जवाब देने की स्थिति में नहीं हैं तो उन्होंने तनाव से बाहर आने के बाद दोबारा बयान लेने की बात कह कर उन्हें जाने दिया। पुलिस सुरेन्द्र दास के सुसाइड की जांच सभी पहलुओं को ध्यान में रख कर रही है।




सोमवार को डॉ. रवीना अपने पिता रावेन्द्र सिंह के साथ एसपी वेस्ट संजीव सुमन के ऑफिस पहुंची, उनको पूछताछ के लिए बुलाया गया था। जब संजीव सुमन ने रवीना से सवाल पूछने शुरू किये तो वो गुमसुम बैठी रहीं। वो किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे पायीं और रोने लगीं। इस पर रवीना के पिता ने कहा कि बेटी अभी भी सदमे में है। सुरेन्द्र के निधन से उसे गहरा सदमा लगा है जिससे उसे बाहर आने में वक्त लगेगा। इस बात को सुनकर एसपी संजीव सुमन ने उन्हें जाने को कहा और बाद में पूछताछ करने की बात कही।

आईपीएस सुरेन्द्र दास ने बीते 5 सितम्बर की सुबह जहरीला पदार्थ खाया था। जब उनकी तबियत बिगड़ी तो उनके पत्नी डॉ रवीना सिंह ने उन्हें रिजेंसी हास्पिटल में एडमिट कराया था। उनके इलाज के लिए तीन डॉक्टर्स का पैनल मुंबई से आया था। सुरेन्द्र दास 5 दिनों तक हास्पिटल में जिन्दगी और मौत के बीच संघर्ष करते रहे और 9 सितम्बर को वो जिन्दगी की जंग हार गए।

पुलिस और फारेंसिक टीम ने बीते 5 सितम्बर की शाम को उनके आवास का निरिक्षण कर जांच की थी। उस वक्त पुलिस को वहां से दो सुसाइड नोट मिले थे जिसमें से एक सुसाइड नोट फटा हुआ था, इसके साथ ही पुलिस से वहां से दो टूटे हुए मोबाइल भी बरामद किये थे। रूम के पास ही सल्फास का पैकेट भी मिला था।

दिवंगत आईपीएस सुरेन्द्र के भाई नरेन्द्र ने कानपुर एसएसपी अनंतदेव तिवारी को एक प्रार्थना पत्र दिया था। जिसमें उन्होंने पुलिस से गुजारिश की थी भाई की सुसाइड करने की वजह का पता लगाया जाये। एसएसपी ने उनके सुसाइड के जांच की जिम्मेदारी सुरेन्द्र दास के क्लासमेट रहे संजीव सुमन को सौपी थी।

सुरेन्द्र के ससुर रावेन्द्र सिंह मीडिया के सामने आकर दास के भाई ,भाभी और मां पर गंभीर आरोप लगाये थे। उनका कहना था कि भाई नरेन्द्र ,भाभी नेहा और मां इंदु लगातार पैसो के लिए सुरेन्द्र दास को प्रताड़ित करते थे और दामाद और बेटी के रिश्ते को तोड़ना चाहते थे। जिसकी वजह से वो तनाव में रहते थे और इसी वजह से उन्होंने ये कदम उठाया।



जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस अब ससुराल पक्ष और सुरेन्द्र दास के परिवार के सदस्यों के बयान दर्ज कर पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही पुलिस उनके सभी मिलने जुलने वालों से भी बात कर रही है। हो सकता है कि उन्होंने किसी से अपनी सुसाइड करने की वजह का जिक्र किया हो। पुलिस सुरेन्द्र दास की महिला मित्र से भी पूछताछ करेगी।

इसके साथ ही पुलिस सुरेन्द्र दास के टूटे हुए मोबाइल का डाटा रिकवर करने के लिए मोबाइल को आईटीसेल फारेंसिक लैब में भेजा है। अगर मोबाइल का डाटा रिकवर होता है तो पुलिस के लिए बड़ी उपलब्धि होगी। इसके साथ ही उनके मोबाइल नंबर की सीडीआर निकलवा कर यह भी जानकारी जुटाई जा रही है कि वो कहां-कहां बात करते थे।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999