कानपुर: पहली महिला शरिया अदालत, 5 मामले आए सामने।

कानपुर: पहली महिला शरिया अदालत, 5 मामले आए सामने।

रिपोर्ट फराह अंसारी
कानपुर: यूपी की पहली और देश की दूसरी महिला शरिया अदालत की शुरुआत सोमवार को कानपुर शहर से हुई। मोहकमा शरिया दारुल कजा ख्वातीन कोर्ट के पहले दिन घरेलू झगड़े, संपत्ति विवाद और पारिवारिक कलह के पांच मुकदमे आए। इनमें पहला मामला कर्नलगंज क्षेत्र के शराबी पति के खिलाफ पारिवारिक कलह का रहा।
काजियों ने पीड़िता के ससुराल वालों को नोटिस भेजने का फैसला किया और कहा कि जवाब आने पर आगे की सुनवाई होगी।



पटकापुर स्थित नवाब साहब कंपाउंड में शुरू महिला शरिया अदालत की शुरुआत कुरान पाक की तिलावत से हुई। इस मौके पर महिला शहर काजी (शिया) डॉ. हिना जहीर और शहर काजी (सुन्नी) मारिया अफजल ने कहा कि शरिया अदालत में मामलों को शरीअत की रोशनी में सुलह से निपटाने के साथ महिलाओं की काउंसलिंग भी की जाएगी, ताकि वे आत्मनिर्भर बनें।

डॉ. हिना ने कहा कि बीवी अपने शौहर की चरण दासी नहीं है। शरीअत ने शौहर और बीवी को बराबर के अधिकार दिए हैं। औरतें अपने को दबा न समझें, अपने हक की लड़ाई लड़ें।


लखनऊ: मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वांचल सहित कई हिस्सों में बारिश हो सकती है।
उन्होंने कहा कि कि जरूरी है कि मुस्लिम बेटियों के हक सुरक्षित हों। इस्लाम औरतें की तालीम और काम करने के खिलाफ नहीं है। मामले शरीअत की रोशनी में आपसी सुलह से निपटाने का प्रयास किया जाएगा।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999