क्या सहारनपुर के चिलकाना से फल-फूल रहा है नशे का काला कारोबार....?

क्या सहारनपुर के चिलकाना से फल-फूल रहा है नशे का काला कारोबार….?

सहारनपुर :थाना चिलकाना इलाके में इन दिनों जमकर नशे का खेल चल रहा है और थाना चिलकाना पुलिस चुपचाप तमाशा देख रही है। सहारनपुर का चिलकाना इलाका एक ऐसा इलाका है जहां पर जमकर नशे का कारोबार चल रहा है जिसमें अफीम ,स्मैक ,चरस ,गांजा , सुल्फा और भांग सहित कई तरह के नशे का सामान गली गली और नुक्कड़ पर बेचा जाता है।

सहारनपुर का चिलकाना इलाका बना हुआ है इस समय नशे के सौदागरों का बड़ा ठिकाना,जिले भर में इस इलाके से होती है सप्लाई।

लेकिन चिलकाना पुलिस इस मामले में अनिभिज्ञता जताते हुए अब तक किसी भी तरह की कोई कार्यवाही नहीं कर पाई हैं या सीधे कहा जा सकता है कि सब कुछ जानते हुए अनजान बनी हुई है। सूत्र ये बताते हैं कि इस नशे के कारोबार से आये पैसों में से एक मोटा हिस्सा चिलकाना थाना में भी जाता है।
यही कारण है कि इस मोटी कमाई के लिए कई पुलिस अधिकारी यहां के चार्ज लेने के लिए अपने अधिकारियों के चक्कर लगाते रहते हैं क्योंकि उनको अंदाजा है इस थाने में रहते हुए कितना मुनाफा हो सकता है।कभी दबाव में पुलिस किसी को उठाकर ले भी आती है तो यहां चिलकाना के व्यपारी संगठन के नेता उनको छुड़ाकर ले जाते हैं।पैसे के लालच में चिलकाना पुलिस यहां के युवाओं का भविष्य अंधेरे में धकेल रहे हैं।

वहीं, सूत्रों से मिलिजानकारीनुसार सहारनपुर के इस कस्बे के जंगलों में सबसे ज्यादा गो-कसी के मामले आते है क्यूंकि यहाँ के अपराधियों के हौंसले इतने बुलंद है की वह दिन दहाड़े किसी भी बड़ी घटना को अंजाम देने में सक्षम नजर आते है. अब इसको पुलिस की ढिलाई कहें या पुलिस की मिलीभगत यह जांच का विषय है,

*नोट-पूरी खबर सूत्रों पर आधारित*

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999