गठबंधन को ठगबंधन बोलने पर बुरे फसे इमरान मसूद,चारो तरफ हो रही आलोचना

गठबंधन को ठगबंधन बोलने पर बुरे फसे इमरान मसूद

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश की सबसे चर्चित एंव नम्बर एक पोजीशन वाली लोकसभा सीटों में से सहारनपुर लोकसभा की सीट सबसे खाश मानी जाती है और देश एंव प्रदेश की राजनीती में इस सीट का बहुत ही बड़ा योगदान रहता है क्योंकि उत्तर प्रदेश की राजनीति की शुरुआत इसी जिले से मानी जाती है इस टोपिक के इतिहास की गहराई में ना जाते हुए हम बात करते है हाल फिलहाल की राजनीती और मिशन 2019 पर. जैसा की सभी जानते है कि भाजपा को रोकने के लिए पुरे देश में सभी छोटे बड़े दलों ने एक जगह आकर भाजपा के विजय रथ को रोकने का मन बनाया है.

इसके लिए उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के प्रमुखों ने अपनी अपनी साझा सीटों का ऐलान कर दिया है लेकिन कांग्रेस को इन दोनों दलों ने बाहर ही रखा है जबकि सूत्रों की यदि मानें तो भीतर घात से कांग्रेस भी गठबंधन के साथ है जिसका उद्धरण रायबरेली और अमेठी की सीटों पर बसपा-सपा द्वारा अपना कोई भी उम्मीदवार नही खड़ा करना है. आपको बता दें की रायबरेली कांग्रेस की खानदानी सीट कही जाती है और अमेठी पर राहुल गांधी चुनाव लड़ते है तो यह अनुमानिक आंकड़े है की शायद कांग्रेस गठबंधन से मिलकर ही उत्तर प्रदेश में 80 सीटों पर अपने उम्मेदवार खड़े करेगी.

लेकिन शायद सहारनपुर की राजनीती में अपनी एक अलग ही जगह रखने वाले पूर्व विधायक एंव वर्तमान कांग्रेस उपाध्यक्ष इमरान मसूद गठबंधन से खुश नही है जिस कारन उन्होंने हाल ही में सपा के दो कद्दावर नेताओं को तोड़ते हुए कांग्रेस में मिलाया और मर्यादाओं से बाहर जाकर इमरान गठबंधन को ठगबंधन बोल बैठे जिससे गठबंधन पसंद लोगों ने इमरान मसूद के इस ब्यान को हाथोंहाथ लिया और जमकर इमरान मसूद के खिलाफ ब्यान बाजी ज़ारी होने लगी. गठबंधन को ठगबंधन बोलने केबाद सपा के एमएलसी उमर अली खान ने इमरान मसूद के गठबंधन को ठगबंधन बोलने वाले ब्यान की निंदा की और इमरान को भाजपा का हितेषी तक बोल डाला. वहीं, बसपा के जिला उपाध्यक्ष राव बाबर ने भी इमरान मसूद के गठबंधन को ठगबंधन बताने वाले ब्यान पर अपनी जमकर प्रतिकिर्या दी इमरान मसूद को भाजपा में जाने की नसीहत तक दे डाली. रालोद नेता एंव प्रदेश उपाध्यक्ष हाजी सलीम ने भी इमरान मसूद को भाजपा का एजेंट कहा उन्होंने कहा की कांग्रेस नेता यह भूल बैठे है की जब गठबंधन हुआ था तो सभी दलों ने मिलजुलकर कांग्रेस के विधयाकों को जीताने का काम किया था लेकिन आज गठबंधन को ठगबंधन बोलकर इमरान मसूद ने अपने भाजपा हितैषी होने का सबूत दिया है-

आप भी सुने किया बोले इमरान मसूद-

आपको बता दें की इमरान मसूद ने सपा के दो वरिष्ठ नेताओ को तोड़ कांग्रेस में मिलाया था उस वक़्त इमरान मसूद के साथ कांग्रेस से देहात विधायक मसूद अख्तर भी मंच साझा करते हुए बोले थे की बरसाती मेंढक चुनाव के वक़्त ही तालाब से बाहर आते है और अपने आप को जनता का हितेषी होने का दावा करते है मसूद अख्तर यही नही रुके उन्होंने कहा की पैसे के बल पर कुछ लोग चुनाव लड़ने आते है और टर्र टर्र करते है.

आप भी सुने किया बोले मसूद अख्तर–

Please follow and like us: