हेल्थ: सोंठ के फायदे और गुण अच्छी सेहत के लिए।

हेल्थ: सोंठ के फायदे और गुण अच्छी सेहत के लिए।

रिपोर्ट फराह अंसारी
भारत में मसालों का प्रयोग पुराने समय से होता आया है। जी हां यही वजह थी की विदेशों में आज भी भारत के मसालों का इस्तेमाल होता है। हम सोंठ के बारे में आपको बता रहे हैं। ये एक प्राकृतिक मसाला है जो अदरक को सुखाकर उसे पीसकर बनाया जाता है। हमारी सेहत के लिए बहुत उपयोगी है सोंठ। क्योंकि यह कई रोगों से हमें बचाती है। इस लेख में आप जानेगें की सोंठ कैसे आपको कई बीमारियों से बचा सकती है। यानि रोगों के उपचार में सौंठ के फायदे क्या हो सकते हैं।




कब्ज की रोकथाम: पेट में कब्ज की समस्या से अक्सर सभी लोग कहीं न कहीं परेशान रहते हैं। एैसे में आप यदि सोंठ को धनिये के रस में मिलाकर उसका सेवन खाना खाने के बाद करते हो तो आप जल्द ही कब्ज की समस्या से उभर जाओगे।

बुखार में सोंठ: यदि बुखार आ गया हो तो इससे बचने के लिए आप गर्म पानी में सोंठ के चूर्ण और दो लौंग को डाल लें और जब यह गुनगुना रह जाए तब आप इस पानी का सेवन करें। इससे बुखार फैलाने वाले जीवाणु नष्ट हो जाएगें। और आपका बुखार जल्दी ठीक हो जाएगा। इस पानी का सेवन दिन में दो से तीन बार जरूर करें।

गठिया के दर्द: जिन लोगों को गठिया है या वे इसके दर्द से परेशान रहते हो तो आप हरड़, अजवायन, सोंठ को बराबर मात्रा में मिला लें और फिर इसे एक लीटर पानी में डालकर इसे चूल्हें में उबाल लें। जब यह ठंडा हो जाए तब आप इसे छान लें और फिर इसे नियमित पीते रहें। एैसा यदि आप कुछ दिनों तक करते हो तो आप जल्द ही गठिया की समस्या से उभर जाओगे।

पेट में गैस की समस्या: यदि पेट में गैस बन रही हो तो आप हींग के चूर्ण के साथ सोंठ और काले नमक को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में मिलाकर उसका सेवन करें। इससे आपको पेट की गैस से राहत मिल जाएगी।

कैंसर: अदरक के चूर्ण में मौजूद कई गुणों में से एक गुण है कैंसर रोधी गुण। सोंठ कैंसर को बढ़ने से रोकती है। साथ ही वह इसके सेल्स के विकास को रोक देती है। पेट के कैंसर व गर्भ के कैंसर को भी सोंठ के सेवन से रोका जा सकता है।

अतिसार या दस्त: गंदा पानी या फंगस फूड खाने से पेट खराब हो जाता है और इसकी वजह से दस्त लग जाते हैं। दस्त अधिक होना जानलेवा हो सकता है। एैसे में आप एक गिलास छांछ में सोंठ को मिला लें और फिर इसमें गुड भी डाल दें। और इसका सेवन करें। एैसा करने से आप जल्द ही दस्त से मुक्त हो जाओगे। डाइरिया यािन की दस्त को रोकने के लिए आप उबले हुए पानी में सोंठ के चूर्ण को डालकर उसे गुनगुना करने के बाद पीएं।

पेट दर्द: पेट दर्द होना एक आम समस्या है। यदि पेट में दर्द अधिक हो रहा हो तो आप हींग के चूर्ण् में सेंधा नमक और सोंठ को मिला लें और फिर इसको सेवन करें। इस उपचार से पेट दर्द में शांति मिलेगी।

पसलियों में दर्द: उम्र के बढ़ने के साथ हमारी पसलियां भी कमजोर होने लगती है। एैसे में यदि आप रोज पानी में सोंठ को डालकर उसे उबालकर और फिर इसे ठंडा करके पीते हो तो कभी भी आपको पसलियों का दर्द नहीं होगा। इस उपाय को आप नियमित दिन में दो से तीन बार जरूर करते रहें।



हिचकी: जी हां दोस्तों हिचकी को कभी हल्के में नहीं लेना चाहिए। ये घातक हो सकती है। यदि आधिक हिचकी आ रही हो तो आप सोंठ को दूध में डालकर उबाल लें और जब यह गुनगुना या ठंडा हो जाए तब आप इसे पीएं। हिचकी दूर हो जाएगी।

Facebook Comments