हरसिमरत कौर बादल का बड़ा ब्यान बोली इंदिरा और राजीव गांधी की नही हुई हत्या, दोनों की हुई हार्ट अटैक से मौत

हरसिमरत कौर बादल का बड़ा ब्यान -1

चंडीगढ़(पंजाब):
कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के 1984 के सिख दंगों पर दिए गए बयान को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। इस बवाल के बीच ही केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि राहुल के मुताबिक, अगर सिख नरसंहार हुआ ही नहीं था तो मैं कहती हूं कि उनके पिता और उनकी दादी की हत्या नहीं हुई बल्कि उनकी मौत सामान्य हार्ट हटैक से हुई थी।


इंडियन-नेवी को मिलेंगे 111 हेलिकॉप्टर्स, हुई 21 हजार करोड़ की डील
आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में ब्रिटेन में कहा था कि 1984 के सिख दंगों में कांग्रेस पार्टी की कोई संलिप्तता नहीं थी। राहुल ने कहा, ‘यह दंगा बेहद दर्दनाक था लेकिन कांग्रेस की इसमें कोई आपराधिक संलिप्तता नहीं थी।’ राहुल के इस बयान के बाद विपक्ष ने उनपर निशाना साधना शुरू कर दिया।


हरसिमरत कौर बादल का बड़ा ब्यान
हरसिमरत कौर बादल का बड़ा ब्यान

बॉलीवुड: बॉलीवुड स्टाइलिश एक्ट्रेस नेहा धूपिया प्रेग्नेंट, शेयर की बेबी बंप फोटो।
इस बात पर हरसिमरत कौर बादल ने कहा, ‘राहुल गांधी के हिसाब से अगर सिख नरसंहार हुआ ही नहीं था तो आज मैं भी कहती हूं कि उनकी दादी (इंदिरा गांधी) और उनके पिता (राजीव गांधी) की हत्या नहीं हुई थी, बल्कि दोनों की मौत हार्ट अटैक से हुई थी।’



बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया की मतदाता सूची में दिखी सनी लियोनी की फोटो।
हरसिमरत कौर बादल से पहले उनके पति और शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी राहुल पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘राहुल ने इस बयान के जरिए साफ संदेश दिया है कि वह उनके साथ हैं, जिन्होंने 1984 में मासूम लोगों को मौत के घाट उतारा था। राहुल के इस बयान ने दंगा पीड़ितों के घाव पर नमक छिड़कने का काम किया है।’



गाज़ियाबाद: चलती ट्रेन में गला दबाकर पत्नी की हत्या, कोई पछतावा नहीं।
वहीं, इस बयान के बाद पार्टी सफाई देने में जुट गई है। राहुल के बचाव में उतरे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि तब पार्टी सत्ता में थी और यह घटना बेहद दर्दनाक थी। सिख दंगों को लेकर पी. चिदंबरम ने कहा, ‘1984 में कांग्रेस सत्ता में थी। तब बेहद दुखद घटना हुई और डॉ. मनमोहन सिंह इसके लिए संसद में माफी मांग चुके हैं। इसके लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। उस दौरान वह महज 13 या 14 साल के थे। उन्होंने किसी को दोषमुक्त करार नहीं दिया है।’

Facebook Comments