हामिद नेहाल अंसारी: 6 साल बाद पाकिस्तान से लौटे हामिद अंसारी, सुषमा स्वराज के गले लगे रो पड़े

पाकिस्तान से लौटे हामिद और उनका परिवार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात के दौरान काफी भावुक नजर आया। हामिद की मां ने कहा- मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान, सब मैडम ने ही किया है।

हामिद नेहाल अंसारी और उनका परिवार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात के दौरान भावुक नजर आया।
हामिद की मां ने सुषमा से गले लगकर कहा- ‘मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान, सब मैडम ने ही किया है।
हामिद ने सुषमा स्वराज के ऑफिस जाकर उनसे मुलाकात की, इस दौरान सुषमा स्वराज ने उन्हें गले लगाया।
जासूसी के आरोप में पाकिस्तानी जेल में 6 साल बिताने के बाद हामिद मंगलवार को ही वतन वापस लौटे हैं।




नई दिल्ली
पाकिस्तानी की जेल में 6 साल बिताकर भारत लौटे हामिद नेहाल अंसारी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। हामिद मंगलवार शाम को ही भारत लौटे हैं। उनकी वतन वापसी में केंद्रीय मंत्री का महत्वपूर्ण योगदान रहा है इसलिए बुधवार सुबह जब हामिद ने परिवार के साथ सुषमा से मुलाकात की तो वे काफी भावुक दिखे। इस दौरान हामिद की मां ने कहा, ‘मेरा भारत महान, मेरी मैडम महान, सब मैडम ने ही किया है।’

पाकिस्तान से लौटे हामिद के परिवार ने पहले भी उनकी वापसी के लिए सुषमा स्वराज से मुलाकात की थी। तब उन्होंने कहा था कि सुषमा स्वराज से मीटिंग कर जो आत्मविश्वास पैदा हुआ, उसी से उम्मीद जगी थी कि उनका बेटा घर वापस लौट आएगा। बुधवार सुबह हामिद ने सुषमा स्वराज के ऑफिस जाकर उनसे मुलाकात की, इस दौरान सुषमा स्वराज ने उन्हें गले लगाया।




हामिद काफी भावुक हो गए। उन्होंने केंद्रीय मंत्री का शुक्रिया अदा किया। इस दौरान उनके परिवार के लोग भी मौजूद थे। बता दें कि 6 साल पेशावर जेल में काटने के बाद हामिद मंगलवार को अपने वतन भारत लौटे हैं। हामिद की मां फौजिया कहती हैं कि वह एक अच्छे मकसद के साथ गया था लेकिन फिर अचानक गायब हो गया।

पश्तून लड़की से मोहब्बत ने पहुंचा दिया बिना वीजा पाकिस्तान
बताया जा रहा है कि एक पश्तून लड़की से ऑनलाइन चैट के बाद हुई मोहब्बत ने मुंबई में वर्सोवा के रहने वाले हामिद नेहाल अंसारी को 2012 में बिना वीजा पाकिस्तान पहुंचा दिया था। इसी के बाद उन पर जासूसी का केस चलाकर जेल भेज दिया गया था। बेटे हामिद की वतन वापसी के लिए परिवारवाले तमाम राजनेताओं के दर पर पहुंचे।



सुषमा स्वराज ने की मदद
इस बीच मामला केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पास पहुंचा, जिन्होंने पाकिस्तान के सामने इस मुद्दे को उठाया। तमाम कोशिशों के बाद दोनों ही मुल्कों के कई लोगों ने मिलकर कोर्ट के सामने यह साबित किया कि हामिद पाकिस्तान में अवैध तरीके से जरूर दाखिल हुआ है लेकिन वह जासूस नहीं है। पाकिस्तान रेंजर के अधिकारियों ने मंगलवार शाम साढ़े पांच बजे बीएसएफ के अधिकारियों को हामिद सौंपा। अंसारी ने वतन वापसी पर सबसे वतन की मिट्टी चूमी।

पाकिस्तानी वकील ने भारत के बेटे का फ्री में लड़ा केस,पाक में मिली दूसरी ‘मां’

6 साल पाक की जेल में बिता वापस लौटे हामिद नेहाल अंसारी आज उन जैसे लोगों के लिए एक आस बन गए हैं जो दोनों मुल्कों की जेलों में बंद अपना जीवन गुजार रहे हैं। हामिद की वतन वापसी में पाकिस्तान के दो ऐसे किरदार शामिल हैं जो सबके लिए मिसाल हैं।

पाकिस्तानी वकील ने भारत के बेटे का फ्री में लड़ा केस
पाकिस्तानी वकील ने भारत के बेटे का फ्री में लड़ा केस

पाकिस्तानी वकीलों ने की हामिद की मदद-
इस मोड़ पर हामिद केस के दूसरे दो अहम किरदारों की एंट्री होती है। एक रख्शंदा नाज और दूसरे काजी मोहम्मद अनवर। दोनों ही पाकिस्तान के ह्यूमन राइट वकील हैं। हामिद का मामला जब इनके सामने पहुंचा को वह काफी बिगड़ चुका था। दरअसल 12 दिसंबर 2015 को पाकिस्तान की एक मिलिटरी अदालत ने हामिद को जासूसी और पाकिस्तान विरोधी गतिविधियों का दोषी ठहरा दिया।

इस मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रख्शंदा नाज और काजी मोहम्मद अनवर को पहली नजर में ही यकीन हो गया कि हामिद निर्दोष है। इसके बाद दोनों ने हामिद के परिवार से बिना एक पैसा लिए इस केस को अपने स्तर पर लड़ा। एक तरफ काजी मोहम्मद अनवर लगाकार इस केस में भिड़े रहे और कोर्ट को समझाते रहे कि हामिद जासूस नहीं है। वहीं रख्शंदा नाज ने कोर्ट के इतर एक मां की तरह हामिद का ख्याल रखा। वह अक्सर जेल में हामिद से मिलने जातीं तो उनके लिए खाने का सामान ले जातीं।



पाकिस्तान में इन दोनों के अलावा सिविल राइट ऐक्टिविस्टों और अन्य जर्नलिस्टों ने भी काफी मदद की। इनमें एक नाम जर्नलिस्ट जीनत शहजादी का भी रहा। हामिद की मां फौजिया ने अपने बेटे की रिहाई के लिए जीनत से संपर्क साधा था। बाद में जीनत पेशावर जेल में बंद हामिद के केस पर काम करने के दौरान खुद गायब हो गईं थीं। दो साल बाद जीनत को ढूंढने में कामयाबी मिली थी। बाद में बताया कि जीनत को अगवा कर लिया गया था।

Facebook Comments
खबर अच्छी लगी तो आगे शेयर करें