ग्रेटर नोएडा: परेशान छात्रा ने सूइसाइड नोट लिखा, पिता ने बचाई बेटी की जान।

Greater Noida: The troubled student wrote Suicide note, the father saved the life of the daughter.

रिपोर्ट फराह अंसारी
ग्रेटर नोएडा: ग्रेनो के ओमीक्रॉन-1 में रहने वाली मेडिकल की छात्रा ने फेसबुक फ्रेंड पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। परेशान छात्रा ने सूइसाइड नोट लिख दिया था, लेकिन पिता ने समय रहते उसे देख लिया, जिससे उसकी जान बच गई। छात्रा के पिता ने दादरी कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करा दी है। आरोप है कि एफबी फ्रेंड शारीरिक संबंध बनाने और एक लाख रुपये का आईफोन दिलाने के लिए प्रेशर बना रहा था।




शिकायत के मुताबिक, छात्रा के फेसबुक अकाउंट पर 2015 में विनीत विश्वकर्मा के नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी। उस समय छात्रा नाबालिग थी और नोएडा के एक स्कूल में पढ़ती थी। लड़की ने फ्रेंडशिप रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली। आरोप है कि लड़के की जिद के चलते वह उससे नोएडा के जीआईपी मॉल में मिली। यहां उसने छेड़छाड़ शुरू कर दी, जिसके बाद वह वहां से निकाल आई। आरोप है कि कि विनीत उस पर फिर से मिलने का दबाव बनाता रहा। साथ ही, अश्लील फोटो बनाकर बदनाम करने की धमकी देने लगा। धमकी से डर कर छात्रा नवंबर 2015 में उससे दोबारा जीआईपी मॉल में मिली।

आरोप है कि वह शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाने लगा। छात्रा ने उसे चेतावनी दी और आगे से कोई संबंध न रखने की बात कहकर वहां से लौट आई। इसके बाद वह विडियो कॉल व मेसेज से परेशान करता रहा। कुछ दिनों से वह एक लाख रुपये का आईफोन मांग रहा था। इसके चलते छात्रा डिप्रेशन में थी और चुपचाप रहने लगी थी। परेशान होकर उसने 25 सितंबर को पूरे विवरण के साथ सूइसाइड नोट लिखकर टेबल पर छोड़ दिया और आत्महत्या का प्रयास करने लगी। अचानक उसके पिता घर पहुंच गए, जिससे उसकी जान बच गई। उन्हें छात्रा की लखनऊ में काउंसलिंग कराने लखनऊ जाना पड़ा, लिहाजा पुलिस से शिकायत नहीं की।



मंगलवार को पीड़ित के पिता ने इस मामले में दादरी कोतवाली में विनीत के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी। दादरी कोतवाली के एसएचओ रामसेन सिंह ने बताया कि छात्रा को परेशान करने के आरोप में सहारनपुर निवासी विनीत विश्वकर्मा के खिलाफ रिपोर्ट कर ली गई है। उसको जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Facebook Comments