Ghaziabad: A 7-year-old girl was killed after the rape, the accused absconded.

गाजियाबाद: 7 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या, आरोपी फरार।

रिपोर्ट फराह अंसारी
गाजियाबाद के मुरादनगर में 7 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या के मामले में पड़ोस में रहने वाले एक नेता और उसके भाइयों पर आरोप लगा है। मुरादनगर के कोट मोहल्ले में लापता बच्ची की लाश घर के पास ही एक धार्मिक स्थल की छत से बरामद हुई थी। बच्ची शनिवार से लापता थी।

मुरादनगर की रहने वाली और दूसरी क्लास में पढ़ने वाली 7 साल की बच्ची शनिवार को घर से बाहर सामान लेने निकली थी, लेकिन वापस नहीं लौटी। काफी देर बाद परिवार वाले उसकी तलाश में जुटे, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। पास में लगे सीसीटीवी में बच्ची एक मस्जिद के पास आखिरी बार देखी गई। बच्ची की गुमशुदगी की इत्तला पुलिस को दी गई। रविवार सुबह जब मस्जिद का एक कर्मचारी धार्मिक स्थल की छत पर पहुंचा तो बच्ची की लाश देखी। बच्ची को बोरी से ढका गया था।




गाजियाबाद के पुलिस कप्तान वैभव कृष्ण ने मौका-ए-वारदात का मुआयना किया। उनका कहना है कि बच्ची से दरिंदगी की पुष्टि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हो गई है। बच्ची का गला दबाकर कत्ल किया गया है और चेहरे पर भी कई जगह चोट के निशान थे। बच्ची की दुष्कर्म करने के बाद ही हत्या की गई है।

परिजनों का कहना है कि उनकी पड़ोसियों से पुरानी राजनीतिक रंजिश है. पीड़ित परिवार ने इस मामले में चार सगे भाइयों एजाज, नौशाद, इंजार और अफजाल पर हत्या, अपहरण और रेप का मामला दर्ज कराया है। पुलिस कप्तान वैभव कृष्ण का कहना है कि आरोपियों की तलाश में कई टीम बनाकर दबिश दी जा रही है। साथ ही साक्ष्य और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।



मृतक लड़की के पिता का कहना है कि कुछ साल पहले आरोपी नौशाद पार्षद पद के लिए चुनाव में खड़ था, लेकिन जब परिवार ने वोट नहीं दी तो दुश्मनी मानने लगा और कुछ दिन पहले भी झगड़ा हुआ था। परिवार ने आरोप लगाया कि इस कत्ल के पीछे वही लोग हैं।फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं। नौशाद इलाके का पार्षद है और बाकी उसके भाई हैं जो पीड़ित परिवार के बगल में ही रहते हैं।

मासूम बच्ची के कत्ल के बाद पूरा इलाका गमगीन है। पूरे मोहल्ले में किसी के भी घर खाना नहीं बना। किसी को यकीन नहीं हो रहा कि तोतली जुबान में बोलने वाली बिटिया का कोई इस बेरहमी से कत्ल कर सकता है। फिलहाल धार्मिक स्थल पर लाश मिलने की वजह से मौके पर फ़ोर्स तैनात है।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999