June 21, 2018
  • 3:28 pm रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह व कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद एंव रालोद वरिष्ठ नेता हाजी सलीम ने महागठबंधन प्रत्याशी के लिये समर्थन मांगा
  • 2:43 pm कैराना उपचुनावः देवर ने दिया भाभी को समर्थन, BJP की बढ़ी मुसीबत
  • 1:07 pm सोनम कपूर ने कहा करीना और जेक्लिन मेरी बेस्ट फ्रेंड है।
  • 12:52 pm सचिन वलिया मर्डर केस का हुआ खुलाशा,तमंचे को चैक करते वक्त लगी थी गोली
  • 11:23 am महाराष्ट्रः औरंगाबाद में शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे ने पुलिस अधिकारियों से की मुलाकात, हाल ही में शहर में दो गुटों में हुई थी हिंसा
अब नवाज़ गर्ल्स पब्लिक स्कूल में "डिजिटल-क्लासेज" का होगा आयोजन

माजिद कुरैशी/शहजाद उस्मानी
सहारनपुर
नए शिक्षण सत्र में नवाज़ गर्ल्स पब्लिक स्कूल में डिजिटल क्लासेज का आयोजन किया गया. डिजिटल क्लास की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए विद्यालय के प्रबंधक डॉक्टर नवाज देवबंदी ने कहा कि वह दिन गुजर गए जब शिक्षा में प्रशिक्षण केवल पाठ्यपस्तकों द्वारा कराया जाता था। शिक्षक अपनी बातों को समझाने के लिए ब्लैक बोर्ड का इस्तेमाल करते थे और छात्र उन शब्दों को अपनी कॉपी पर लिखते थे. आजकल डिजिटल शिक्षण जैसे PPT वीडियो प्रस्तुति,ई लर्निंग,ऑनलाइन प्रशिक्षण और अन्य डिजिटल पद्धतियों के प्रयोग के साथ कक्षा में शिक्षण अत्याधिक संवादात्मक मनोरंजक और प्रभावी हो गया है बच्चे इस पर अधिक ध्यान दे रहे हैं. वह इसे केवल सुन ही नही रहे हैं बल्कि स्क्रीन पर भी देख रहे हैं जिससे उनकी सीखने की क्षमता में इजाफा हो रहा है।



मुख्य अतिथि राज सिंह यादव प्रधानाचार्य डाइट पटनी सहारनपुर ने कहा कि डिजिटल क्लासेज भारत के आधुनिक शिक्षा युग की आधारशिला है जिस गति से लोग डिजिटल प्रौद्योगिकी और बढ़ रहे हैं मुझे यह जानकर आज बहुत खुशी हो रही है कि नवाज़ गर्ल्स पब्लिक स्कूल अपनी छात्राओं को उसी गति से यह सुविधा उपलब्ध करा रहा है विद्यालय की किसी एक कक्षा में नहीं बल्कि लोअर क्लास से लेकर हायर क्लास 10th क्लास को भी यह सुविधा उपलब्ध है।



मौलाना नदीम उल कादरी ने कहा कि इस्लाम दीन तालीम के साथ साथ दुनियावी तालीम को भी बढ़ावा देने के लिए कहता है नवाज़ गर्ल्स पब्लिक स्कूल में दीनी और दुनियावी तालीम को बखूबी अंजाम दिया जा रहा है स्कूल की क्लासेस को पूरी तरह डिजिटल कर दिया गया है. नवीन टेक्नोलॉजी अल्लाह ताला की दी गई सहूलियत में से एक है. इंसानों को इसकी कदर करना बहुत जरूरी है नहीं तो हम पिछड़ जाएंगे।

इस दौरान तहसीन खान एडवोकेट. नसीम अंसारी एडवोकेट. हाफिज मोहम्मद उस्मान, समीम फारूक प्रिंसिपल इस्लामिया इंटर कॉलेज देवबंद, मोहम्मद साबिर, अब्दुल्ला नवाज खान, अंबर सफीक सहित विद्यालय का समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

techbizzzz@gmail.com

RELATED ARTICLES
LEAVE A COMMENT