देहरादून: 10वीं की छात्रा का हुआ गैंगरेप पीड़िता हुई गर्भवती, प्रिंसिपल समेत 9 गिरफ्तार।

Dehradun: 10-year-old girl gangrape victim, pregnant, 9 arrested including principal.

रिपोर्ट फराह अंसारी
नई दिल्ली: उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के एक बोर्डिंग स्कूल में स्कूल परिसर के अंदर 10वीं की एक छात्रा का गैंगरेप हुआ, जिससे पीड़ित गर्भवती है। इस वारदात के बाद स्कूल के डायरेक्टर, प्रिंसिपल, एक अफसर की पत्नी समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस पूरी घटना में चार नाबालिग छात्र भी शक के घेरे में हैं। इन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया है।




इस घटना से सवाल उठता है कि आखिर बेटियां कहां जाए। कहां रहे। कैसे जिए। हर रोज बेटियों के साथ महापाप हो रहा है, लेकिन जवाब कहीं नहीं है। गांव से लेकर शहर तक बेटियों का वही हाल। वही बेबसी। एक हफ्ता भी नहीं हुआ है रेवाड़ी में सीबीएसई की टॉपर और राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा के साथ गैंगरेप हुआ। अब देहरादून में भी गैंगरेप हुआ है।

बोर्डिंग स्कूल में पढ़ने वाली एक छात्रा से स्कूल में गैंगरेप होता रहा और किसी को भनक तक नहीं लगी। जब पीड़ित लड़की की तबीयत खराब हुई और उसे अस्पताल ले गया तब जाकर पता चला कि वो तो प्रेगनेंट है। उसका गर्भपात तक कराने की कोशिश की गई। पीड़ित छात्रा स्कूल के ही हॉस्टल में अपनी बड़ी बहन के साथ रहकर पढ़ाई कर रही थी।

इस मामले में सहसपुर पुलिस ने रेप और इस वारदात को दबाने की कोशिश के आरोप में स्कूल के निदेशक, प्रधानाचार्य समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण की टीम भी स्कूल पहुंची और छात्रा और उसके अभिभावकों से मिली।गैंगरेप के सभी आरोपी छात्र नाबालिग बताए जा रहे हैं।

घटना सहसपुर इलाके के एक स्कूल में बीती 14 अगस्त को हुई। यहां इंटर में पढ़ने वाले दो और हाईस्कूल में पढ़ने वाले दो छात्रों ने हाईस्कूल की छात्रा के साथ गैंगरेप किया। कुछ दिन पहले उसकी तबीयत खराब हुई तो उसने अपनी बड़ी बहन को पूरी बात बताई।

बड़ी बहन ने स्कूल प्रबंधन को मामले से अवगत कराया। इसके बाद छात्रा को इलाज के लिए प्राइवेट डॉक्टर पास ले जाया गया, जहां पता चला कि छात्रा गर्भवती है। इसके बाद प्रबंधन मामले को दबाने में जुट गया और छात्रा का गर्भपात कराने की भी कोशिश हुई। इस बीच छात्रा ने दून में रह रही अपनी चाची को यह बात बता दी। रविवार को दून पहुंचे छात्रा के परिजनों ने एसएसपी निवेदिता कुकरेती को मामले की जाकनारी दी। साथ ही बताया कि स्कूल प्रबंधन उनकी मदद नहीं कर रहा है।



इसके बाद शुरू हुई पुलिस जांच और कार्रवाई शुरू हुई। पुलिस ने अपनी जांच में पाया है कि स्कूल प्रशासन ने छात्रा को डराने-धमकाने और गर्भपात कराने की कोशिश की। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि छात्रा के पिता की तहरीर पर आरोपियों के साथ ही स्कूल प्रबंधक समेत 9 लोगों के खिलाफ 376D, 120 B, 201 IPC और पोक्सो एक्ट तहत केस दर्ज करके गिरफ्तारी की गई है।

Facebook Comments