Akhilesh-Mayawati said no coalition with Congress

अखिलेश-मायावती ने कहा कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नही

लखनऊ।
आगामी लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दलों में वार-पलटवार का सिलसिला जारी है। यूपी में महागठबंधन द्वारा कांग्रेस के खिलाफ दो सीटों पर उम्मीदवार नहीं उतारने के फैसले के जवाब में कांग्रेस ने राज्य की 7 सीटों पर उम्मीदवार नहीं उतारने का ऐलान किया था। हालांकि बीएसपी चीफ मायावती ने कांग्रेस की ‘दरियादिली’ को कोई भाव नहीं दिया और जोर का झटका देते हुए सोमवार को साफ कहा कि कांग्रेस 7 सीटें छोड़ने का भ्रम न फैलाए और वह राज्य की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने को स्वतंत्र है। मायावती के इस कदम का समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव ने भी समर्थन किया है। अखिलेश ने मायावती के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा कि यूपी में एसपी-बीएसपी-आरएलडी का गठबंधन बीजेपी को हराने में सक्षम है। कांग्रेस किसी तरह का कन्फ्यूजन ना पैदा करे।








बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस पार्टी को जोरदार झटका दिया है। मायावती ने कहा कि कांग्रेस भ्रम न फैलाए और उसके साथ कोई गठबंधन नहीं होगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी के साथ उनका गठबंधन राज्‍य में बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है।








बसपा-सपा की दो टूक, कहीं गठबंधन नहीं
मायावती ने दो टूक कहा कि बीएसपी कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगी। मायावती ने यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी के साथ उनका गठबंधन राज्‍य में बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है। बीएसपी अध्‍यक्ष ने ट्वीट कर कहा, ‘कांग्रेस यूपी में भी पूरी तरह से स्वतंत्र है कि वह यहां की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करके अकेले चुनाव लड़े आर्थात हमारा यहां बना गठबंधन अकेले बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है। कांग्रेस जबर्दस्ती यूपी में गठबंधन के लिए 7 सीटें छोड़ने की भ्रांति ना फैलाए।’








भ्रम ना फैलाएं कांग्रेस-मायावती
उन्‍होंने कहा, ‘बीएसपी एक बार फिर साफ तौर पर स्पष्ट कर देना चाहती है कि उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कांग्रेस पार्टी से हमारा कोई भी किसी भी प्रकार का तालमेल और गठबंधन आदि बिल्कुल भी नहीं है। हमारे लोग कांग्रेस पार्टी द्वारा आए दिन फैलाए जा रहे किस्म-किस्म के भ्रम में कतई ना आएं।’ इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने ऐलान किया था कि वह उत्‍तर प्रदेश में 7 सीटों पर अपने प्रत्‍याशी नहीं उतारेगी।

Facebook Comments

मामले (भारत)

67152

मरीज ठीक हुए

20917

मौतें

2206

मामले (दुनिया)

3,917,999